शुक्रवार, 2 जनवरी 2015

पूज्य भारत


स्मृतियों में बीता वर्ष [2014].....नूतन वर्ष [ 2015 ] का स्वागत अभिनन्दन ,,,
****
आओ कसम खाएं-
अखंड भारत
स्वच्छ भारत 
स्वस्थ भारत
सम्पन्न भारत
समर्थ भारत
विद्वत भारत
अमूल्य भारत
अतुल्य भारत
अदम्य भारत
अभेद्य भारत
अजेय भारत
सर्वोपरि ,
पूज्य भारत को
गौरव गतिमान अक्षुण रखने की ।

1 टिप्पणी:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

सार्थक प्रस्तुति।
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (03-01-2015) को "नया साल कुछ नये सवाल" (चर्चा-1847) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
नव वर्ष-2015 आपके जीवन में
ढेर सारी खुशियों के लेकर आये
इसी कामना के साथ...
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'