गुरुवार, 4 अगस्त 2016

हृदयहीन क्या जानेगा

क्या कहना आंगरों से 
शीतलता क्या होती है -
क्या जानेगा कंटक वन
कोमलता क्या होती है -
क्या जाने विषबेल तरु
प्रेम-लता क्या होती है -
हृदयहीन क्या जानेगा
मानवता क्या होती है -
वीर प्रवर क्या जानेगा
कायरता क्या होती है -
ऐश्वर्य प्रमादी क्या जाने
व्यथा कथा क्या होती है -
उदय वीर सिंह

1 टिप्पणी:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (05-08-2016) को "बिखरे मोती" (चर्चा अंक-2425) पर भी होगी।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'