बुधवार, 11 जनवरी 2017

निर्धन की क्या जाति बता दो -

वेदन का क्या संवत्सर क्या है
निर्धन की क्या जाति बता दो -
क्या दुर्जन का धर्म है वर्णित
सज्जन की क्या जाति बता दो -
आँखों के आँसू किसके कैदी हैं 
प्रेम के पाँव लगी जंजीरें क्यों
वीर मानवता का रंग है कैसा
मानव की क्या जाति बता दो -
रुधिर एक ही तन में बहता
गोरा कहीं  न काला बहता
रब के साँचे मानव ढलता
अपराधी की जाति बता दो -
जब धर्मों का गंतव्य एक है
ले दया प्रेम करुणा के पथ
औजारों से नेह क्यों टूटा
हथियारों की जाति बता दो -
उदय वीर सिंह

3 टिप्‍पणियां:

ब्लॉग बुलेटिन ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप को विश्व हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, "१० जनवरी - विश्व हिन्दी दिवस - ब्लॉग बुलेटिन “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

इंसान की फितरत है इंसान को बाँटना
जाने कब इंसान इंसानियत में जीना सीखेगा

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल बृहस्पतिवार (12-01-2017) को "अफ़साने और भी हैं" (चर्चा अंक-2579) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'