शनिवार, 27 मार्च 2021

रंग मुबारक जी

 रंग मुबारक जी ...

रंग रखिये हृदय में सदा प्यार के,
एक मुकम्मल जहाँ का ,ये रँगरेज है।
ये है सौदा खरा सौ टका जानिए,
ये न हिन्दू,न मुस्लिम,न अंग्रेज है।
हर बदन,तन, वसन कर सके आचमन,
वीर खुशियों के घर,फूल की सेज है।
उदय वीर सिंह।

2 टिप्‍पणियां: